Connect with us

Chandigarh

क्रिकेटर सुरेश रैना के टवीट पर सोनू सूद व करन गल्होत्रा ने मिनटों में पहुंचाया आक्सीजन सिलैंडर

Published

on

Image/PunjabMetro.com

कोरोना आक्सीजन की कमी से जूझते पीडि़तों की मदद के लिये आगे आई सोनू सूद व करण गिल्हौत्रा की जोड़ी

फाजिल्का, 7 मई: देश में कोरोना की दूसरी लहर में आक्सीजन की कमी से जूझते पीडि़तों के लिये एक बार फिर बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद व उनके दोस्त व चंडीगढ़ के व्यवसायी करण गिलहौत्रा एक बार फिर मसीहा बनकर सामने आए हैं और सोनू सूद व करण गिल्हौत्रा की जोड़ी ने देश में जरूरतमंद रोगियों को आक्सीजन सिलैंडर मुहैया करवाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। इसी के तहत जब भारतीय क्रिकेट टीम के हिस्सा रहे क्रिकेटर सुरेश रैना ने उत्तर प्रदेश के मेरठ की रहनी वाली अपनी एक रिश्तेदार 65 वर्षीय महिला के लिए आक्सीजन सिलेंडर की सहायता मांगी

क्योंकि उस महिला की जान पर बनी थी और कहीं से भी आक्सीजन सिलेंडर न मिल पाने के चलते हालत गंभीर थी। इस ट्वीट को पढक़र बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद व उनके दोस्त व चंडीगढ़ के व्यवसायी करण गिलहोत्रा ने अपने दोस्तों की सहायता से मेरठ में कुछ ही मिनटों में आक्सीजन का इंतजाम करवाया। इसके साथ ही रैना को चिंता मुक्त करने के लिए उनके टवीट का जवाब भी दिया, जिसमें उन्होंने लिखा कि ‘मरीज का ख्याल रखिये, हम सहायता के लिए तैयार हैं’।


उल्लेखनीय है कि अभिनेता सोनू सूद व उद्योगपति करण गिल्हौत्रा ने पिछले एक साल से कोविड-19 में जरूरतमंद लोगों की मदद में कोई कमी नहीं रहने दी है। दोनों दोस्तों ने जरूरतमंद परिवारों को राशन सामग्री मुहैया करवाने के साथ साथ लाकडाऊन में जरूरतमंद विद्याॢथयों की पढ़ाई प्रभावित होने से बचाने के लिये देश भर में हजारों स्मार्ट मोबाइल फोन बांटकर समाजसेवा का शानदार परिचय दिया।

एक दूसरे की मदद करें और पौधारोपण करें: करण गिल्हौत्रा

करन गल्होत्रा ने समूह देश वासियों से अपील करते हुए कहा है कि कोविड के संकट में आज एक दूसरे की मदद करने का समय है। आज पूरी मानवता संकट में है तो सभी को अपनी तरफ से एक दूसरे की मदद करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कोरोना में आक्सीजन की कमी ने हमें भलीभांति बता दिया है कि प्रकृति और वायु हमारे लिये कितनी जरूरी है। आक्सीजन बिना जीवन की कल्पना भी नहीं हो सकती। श्री गिल्हौत्रा ने कहा कि हम प्रकृति के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए आप आसपास और खाली स्थानों में पौधारोपण करें और उनके रख रखाव का भी पूर्ण प्रबंध करें ताकि हमारे सामान्य जीवन में आक्सीजन का लेवल हमेशा ऊपर रह सके।